बारिश के परिणाम और दुष्परिणाम ।

बारिश की बात करने से पहले यह जान ले कि बारिश एक प्राकृतिक प्रदत उपहार है । और यही अगर सीमा से बाहर होती है तो इससे बड़ा अभिशाप भी नहीं है ।



बारिश दो कारण से होती है ।

(1)  -  पहला प्राकृतिक के नियम के अनुसार ।  -  जैसे कि उचित गर्मी पड़ती है । और समय से बारिश की पूरी प्रक्रिया प्राकृतिक वातावरण के द्वारा होता है । सही समय पर जिससे किसानों को और पशु पक्षी को भी बहुत लाभदायक होता है ।

(2)  - मनुष्य के करतूत के कारण । - जैसे कि बढ़ते जमाने के अनुसार दिन प्रतिदिन कल कारखाने और बढ़ती आबादी , गाड़ी - घोड़ा , शोर-गुल और मनुष्य के ऐसे कई करनामें जिसके कारण वातावरण प्रभावित होता है । इस सभी कारणों से प्राकृतिक अपने समय अनुसार कुछ नहीं कर पाती । और कभी-कभी गलत तरीके से । समय से नहीं और दूषित बारिश होती है । इससे यह साबित होता है कि मनुष्य अपनी करतूत से खुद हानि पहुंचाता है । किसानों की खेती बर्बाद होती है , उधोग प्रभावित होता है , माल जाल की क्षति होती है , पशु पक्षी बिहीन हो जाते हैं , मानव अस्तित्व खतरे में आ जाता और रोग का संक्रमण भी काफी तेज हो जाता है ।

अब बात करते हैं । हमारे जीवन में बरसा का बेहतर आगमन कैसे होगा ? हम अपने जिम्मेवारी को समझेंगे बरसा का संरक्षण करेंगे प्रदूषण कभी नहीं फैलाएंगे और वातावरण को ज्यादा से ज्यादा हरा भरा रखेंगे ।

दोस्तो आप पढ़ रहे है hellodhiraj.in

आपको यहां पर मिलता है सबसे बेहतर जानकारी । बेहतरीन तरीको से जो आपको हमेशा याद रहेगा । और आपके पढ़ाई और प्रतियोगी परीक्षा में यहां से बहुत सारी जानकारियां मिलेगी ।

आप मेरे facebook page और youtube पर आ सकते है ।

facebook - www.facebook.com/dhirajkumarraj43
youtube - www.youtube.com/dhirajisagreatthought

आपका धन्यवाद ••••
Previous Post
Next Post

My self dhiraj kumar I self run this website I,m owner and worker of this websites . Please keep us support

Related Posts