गांव का हाठ-बाजार एवं गांव की चहल पहल । village local market and village,s movement .

गांव का हाठ-बाजार एवं गांव की चहल पहल । village local market and village,s movement .



गांव का हाट-बाजार का भी अपना एक नियम होता है । गांव के बाजार रोज-रोज नहीं लगते और एक ही गांव में नहीं लगते हैं । सप्ताह के अनुसार सभी गांव में दिन के हिसाब से लगता है । आज इस गांव में तो कल दूसरे गांव में ।


गांव के बाज़ार लगते हैं तो एक मेले जैसा लगता है ,  एक पर्व जैसा लगता है । सभी गांव से दुकानदार अपने सामान को साइकिल-मोटरसाइकिल से लाते हैं । और गांव की कोई बड़ी सी मैदान जहां बहुत सारे लोग पहुंचते हैं और गांव के बीच-बीच हो वहां पर अपने सामान नीचे में लगाते हैं और सामान बेचते हैं । जो भी चाहे अपना दुकान को लगा सकता हैं ।


बाजार लगने से पहले लोग तैयारी करते हैं कि बाजार से क्या लाना है और बाजार जाते हैं । और एक बार में अगले आनेवाले बाजार तक के लिए समान खरीद लेते हैं । और कुछ खाने पीने के समान जैसे मुढ़ी-कचरी , फोफि, चप , बचका सब खरीद लेते हैं अपने घर के लिए ।


बाजार में बच्चे-बूढ़े , औरत सब जा पाते हैं । और  बाजार में अपने गांव के लोगों को देख कर बड़ा अच्छा लगता है । सब आदमी एक साथ सामान खरीदते हैं और बातें भी करते हैं ।


कितने आदमी अपने मस्ती के लिए छोटी-छोटी पार्टी भी बाजार पर कड़ते हैं । और मांस-मछली खाते है । और बाजार का आनंद उठाते हैं ।


अब बात करते हैं गांव में अगर कोई रिस्तेदार आया है तो । उनको बाजार के दिन पर अच्छा खाना खिलाते हैं । या जो लोग मांस-मछली खाना पसंद करते हैं उनके लिए मांस मछली की व्यवस्था करते हैं ।


बाजार के दिन गांव में काफी चहल-पहल होती है । पूरे गांव से लोग बाजार के लिए निकलते हैं । और शाम के समय घर वापस आते हैं । यह भी देखना बड़ा अच्छा लगता है ।


दोस्तो आप पढ़ रहे है hellodhiraj.in

आपको यहां पर मिलता है सबसे बेहतर जानकारी । बेहतरीन तरीको से जो आपको हमेशा याद रहेगा । और आपके पढ़ाई और प्रतियोगी परीक्षा में यहां से बहुत सारी जानकारियां मिलेगी ।

आप मेरे facebook page और youtube पर आ सकते है ।

facebook - www.facebook.com/dhirajkumarraj43
youtube - www.youtube.com/dhirajisagreatthought

आपका धन्यवाद ••••
Previous Post
Next Post

My self dhiraj kumar I self run this website I,m owner and worker of this websites . Please keep us support

Related Posts