चकबन्दी किसे कहते है ? , चकबन्दी के क्या कार्य है ? / Chakbandi kise kahte hai ? , Chakbandi ke kya karya hai ?


मेरे दोस्तों आज के इस Article में हम बात कर रहे है चकबन्दी से संबंधित जो बहुत ज्यादा पूछे जाने वाला सवाल है । चकबन्दी किसे कहते है , चकबन्दी क्या होता है , चकबन्दी के क्या कार्य है , चकबन्दी कहाँ होती है , चकबन्दी कौन करते है , चकबन्दी से क्या लाभ है क्या घाटा है , चकबन्दी होना जरूरी है या नही । आज हम इसी Topic पर पूरी अच्छी तरीके से बात कर रहे है ।

चकबन्दी किसे कहते है ? , चकबन्दी के क्या कार्य है ? / Chakbandi kise kahte hai ? , Chakbandi ke kya karya hai ?
चकबन्दी किसे कहते है ? , Chakbandi kise kahte hai ?


अमीन किसे कहते है ? , अमीन के क्या कार्य है ? , अमीन कैसे काम करते है ? , अमीन के कार्यशैली , एरिया स्लिप किसे कहते है ( area slip ) और बहुत कुछ Topic पर आज हम बात करने वाले है । और बहुत कुछ बात करने वाले है ।


आज एक बार फिर से स्वागत है आपका मेरे वेबसाइट में यहाँ पर अभी अमानत (Land Survey) से जुड़ी जानकारी ले रहे है । और मुझे खुशी है कि आपका Comment भी मेरे पास आ रहा है । Land Survey एक ऐसा विषय है जिसमे बहुत ही कम पढ़ना होता है । और आप जितना ज्यादा सोचेंगे उतना ज्यादा आपका ज्ञान बढ़ेगा । आप हमें अमानत (Land Survey) से जुड़ी जानकारी के लिए Comment कर सकते है । आप हमें अमानत (Land Survey ) से जुड़ी शिकायत या सुझाव के लिए Comment कर सकते है । या आप हमे अमानत (Land Survey) से जुड़ी कुछ सामान्य या महत्वपूर्ण सवाल पूछ सकते है ।

चकबन्दी किसे कहते है ? , चकबन्दी के क्या कार्य है ? / Chakbandi kise kahte hai ? , Chakbandi ke kya karya hai ?
Chakbandi kise kahte hai ? , चकबन्दी किसे कहते है ?


प्रशन :- चकबंदी योजना का मुख्य उद्देश्य क्या था ? और किन-किन क्षेत्र में होती है ?


उत्तर :- चकबन्दी योजना का मुख्य उद्देश्य खेती में सुधार करना, अतः वैसी जमीन जहां पर खेती नही होती वहां चकबन्दी नही किया जाता है । जैसे :- नदी , नाला , पुरानी परती जमीन , सड़क और आम मजरुआ आम जमीन , खास जमीन , जलासय , पुल , बस्ती , बाग-बगीचा , इत्यादि तमाम और अपवाद जमीन की चकबन्दी नही किया जाता है ।
चकबन्दी मात्र खेतिहर जमीनों में की जाती है । धनहर - 1 , धनहर - 2 , धनहर - 3 में ही होती है ।


प्रशन :- चकबन्दी क्या है ?


उत्तर :- जमीन के छोटे - छोटे टुकड़े को दर्जा और कीमत के आधार पर एक साथ मिलकर एक बड़ा प्लॉट तैयार करना चकबन्दी कहलाता है । चकबन्दी हेतु कम से कम 48 डिसमिल या उससे अधिक जमीन रहने पर ही चकबन्दी किया जाता है और 48 डिसमिल से कम जमीन रहने पर चकबन्दी नही किया जाता है ।


विशेष रूप से :- दोस्तो हम एक ही बात जानते थे वो है सिर्फ चकबन्दी , तो बात करते है चकबन्दी एक तरह विवाद है जो जमीन से जुड़ा हुआ है । जिसमे होता क्या है , जमीन के बहुत सारे टुकड़े को लेन देन करके किसान एक जगह पर ही जमीन का बहुत बड़ा टुकड़ा लेते है । जिससे किसान को खेती करने में आसानी होती है । चकबन्दी मुख्य रूप से सरकार के भु-राजस्व विभाग के कर्मचारी करते है । चकबन्दी के फायदे है - किसान को एक जगह पर ही जमीन का बड़ा टुकड़ा मिल जाता है जिससे उन्हें खेती करना आसान हो जाता है । किसान की मेहनत कम हो जाती है , किसान अपने फसल की रक्षा कर पाते है । किसान अपने खेतों में कम पैसा लगाकर अच्छा फसल उगा पाते है । जिस से किसान हमेशा चाहते है कि जमीन की चकबन्दी हो । चकबन्दी होने से पहले गांव में सभा लगती है । चकबन्दी सभा में गांव के मुखिया , सरपंच , जमींदार , भू-राजस्व विभाग के कर्मचारी और गांव के वरिष्ठ लोग और गांव के सभी किसान होते है । भू-राजस्व विभाग के कर्मचारी द्वारा सभा शुरू होती है । जिसमे गांव के हर जगह के क्षेत्र का दाम तय होता है , जिसमे सभी की हाँ होनी चाहिए । उसके बाद वैसे लोग जिनके पास 48 डीसीमाल से ज्यादा जमीन है वो अपने जमीन के कागजात लाते है । भू-राजस्व विभाग के कर्मचारी द्वारा उस कागज को देख कर सभी जमीन का तालिका बना लिया जाता है नाम के अनुसार , जमीन की मात्रा के अनुसार , और जगह के अनुसार । उसके बाद चकबन्दी कर्मचारी द्वारा उस जमीन का दाम तय होता है । और उस सभी जमीन के दाम के बदले एक जगह पर जमीन दिया जाता है और उसी वक्त कर्मचारी द्वारा जमीन का कागज तैयार कर दिया जाता है । और इस सभी काम के समाप्त के बाद चकबन्दी कर्मचारी उस क्षेत्र का सर्वे कर देते है और उसके बाद चकबन्दी का कार्य समाप्त हो जाता है । यही है जमीन के चकबन्दी का पूरा कार्य । और चकबन्दी कार्य पूरे भारत में सिर्फ पंजाब और हरयाणा और चंडीगढ़ के क्षेत्र में ही सम्पन्न हो पाया इसलिए वहां के जमीन का प्लॉट बहुत बड़ा बड़ा होता है । और वहां के लोग अपने खेत में ही घर बना लेते है और बहुत आसानी से खेती कर पाते है । लेकिन इन सभी क्षेत्र के अलावा अन्य राज्यो में लोगो के बीच इतनी बात नही बानी जिसके कारण अन्य राज्यों में चकबन्दी कार्य नही हो पाया । चकबन्दी कार्य होने से लोगो को बहुत ज्यादा फायदा हुआ है ।


में धिरज कुमार आपको में अपने वेबसाइट hellodhiraj.in के जरिये आपको अमानत ( Land survey ) सिखाने की कोशिश कर रहा हूँ । और मैंने अमानत ( Land Survey ) से जुड़ी बहुत से Article अपने Website पर डाला हूँ । जिसका Group Link यह है | https://www.hellodhiraj.in/search/label/Land%20Survey?m=1 इस पर Click करके आप अमानत से जुड़े (Land Survey) महत्त्वपूर्ण जानकारी ले सकते है । और अमानत (Land Survey) सिख सकते है आसानी से । मैंने बहुत ही आसान तरीके से समझाया है । आप आसानी से सिख सकते है । और अमानत (Land Survey) के तरीके को बहुत ही जल्दी सिख सकते है । आज के इस Article में आप अमानत (Land Survey) से जुड़े बहुत ही जरूरी Topic के बारे में जानेंगे । आज हम बार कर रहे है अमीन से जुड़े सवाल और जवाब के बारे में । जहां हम बात करेंगे अमीन किसे कहते है , अमीन के क्या कार्य है ,  अमीन होने के लिए क्या क्या जरूरी है और बहुत कुछ ।



दोस्तो आप पढ़ रहे है hellodhiraj.in

आपको यहां पर मिलता है सबसे बेहतर जानकारी । बेहतरीन तरीको से जो आपको हमेशा याद रहेगा । और आपके पढ़ाई और प्रतियोगी परीक्षा में यहां से बहुत सारी जानकारियां मिलेगी ।

आप मेरे facebook page और youtube पर आ सकते है ।

facebook - www.facebook.com/dhirajkumarraj43
youtube - www.youtube.com/dhirajisagreatthought

आपका धन्यवाद ••••
Previous Post
Next Post

My self dhiraj kumar I self run this website I,m owner and worker of this websites . Please keep us support

Related Posts