भीष्म पितामह का जन्म कैसे हुआ, भीष्म पितामह कौन थे।bhism pitamah ka janm kaise huya, bhishm pitamah kaun thhe

भीष्म पितामह का जन्म कैसे हुआ, भीष्म पितामह कौन थे।

भीष्म पितामह का जन्म कैसे हुआ, भीष्म पितामह कौन थे।bhism pitamah ka janm kaise huya, bhishm pitamah kaun thhe
भीष्म पितामह का जन्म कैसे हुआ, भीष्म पितामह कौन थे।bhism pitamah ka janm kaise huya, bhishm pitamah kaun thhe

एक समय की बात थी, जब महाराज शांतनु ने गंगा को देखा और उनसे शादी के लिए मना लिया। लेकिन गंगा की एक शर्त थी, आप जब भी हमारे काम में हस्तक्षेप हम आपको छोर कर चले जायेंगे। गंगा ने पुत्र जन्म दिए और उनको गंगा में बहा दिए ऐसे गंगा ने सात पुत्र के साथ किया , लेकिन आंठवी बार महाराज ने गंगा को रोक दिया और इसका कारण पूछा,और वही आंठवा पुत्र भीष्म पितामह थे। तब गंगा ने महाराज से कहा अब में जा रही हूँ लेकिन में आपको इसे बड़ा होने पर लौटा जाऊंगी।
एक दिन महाराज शांतनु शिकार के लिए गंगा किनारे गए। वहां उन्होंने एक दस साल के बालक को देखा, वो बहुत तेजस्वी और ताकतवर था । महाराज उनके नजदीक चले गए , तब गंगा प्रकट हुए और महाराज से कहा महाराज ये आपका ही पुत्र है, इसे में सभी विद्या में महारथ बनाया, आपका पुत्र बहुत ही योग्य है , आज से ये आपके पास रहेगा। तबसे भीष्म महाराज के साथ रहने लगे और उनका युवराज का घोषणा हुआ और वो युवराज पद पर स्थापित हुए।
Previous Post
Next Post

My self dhiraj kumar I self run this website I,m owner and worker of this websites . Please keep us support

Related Posts