महर्षि वेद व्यास की पूरी जन्म कहानी, महाभारत के रचयिता वेद व्यास की पूरी कहानी।

महर्षि वेद व्यास की पूरी जन्म कहानी, महाभारत के रचयिता वेद व्यास की पूरी कहानी। maharshi ved vyas ki puri janm kahani, mahabharat ke rachayita ved vyas ki puri kahani
महर्षि वेद व्यास की पूरी जन्म कहानी, महाभारत के रचयिता वेद व्यास की पूरी कहानी। 


महर्षि वेद व्यास की पूरी जन्म कहानी, महाभारत के रचयिता वेद व्यास की पूरी कहानी। maharshi ved vyas ki puri janm kahani, mahabharat ke rachayita ved vyas ki puri kahani

महर्षि वेद व्यास की पूरी जन्म कहानी, महाभारत के रचयिता वेद व्यास की पूरी कहानी। maharshi ved vyas ki puri janm kahani, mahabharat ke rachayita ved vyas ki puri kahani
महर्षि वेद व्यास की पूरी जन्म कहानी, महाभारत के रचयिता वेद व्यास की पूरी कहानी। 

भाग 1 - महर्षि वेद व्यास का परिचय


महर्षि वेद व्यास के पिता परासर मुनि है और माता सत्यवती है। एक बार परासर मुनि यमुना नदी के किनारे से गुजर रहे थे और परासर मुनि को यमुना के उस पार जाना था। तभी परासर मुनि ने सत्यवती को नाव खेतते हुए देखा और सत्यवती इसी तरफ आ रही थी। परासर मुनि ने सत्यवती से कहा तुम मुझे नदी के उस पार कर दो। इस पर सत्यवती तैयार हो गई।
महर्षि वेद व्यास की पूरी जन्म कहानी, महाभारत के रचयिता वेद व्यास की पूरी कहानी। maharshi ved vyas ki puri janm kahani, mahabharat ke rachayita ved vyas ki puri kahani
महर्षि वेद व्यास की पूरी जन्म कहानी, महाभारत के रचयिता वेद व्यास की पूरी कहानी। 

भाग 2 - परासर मुनि द्वारा संभोग के लिए याचना करना



और चल दिये, नाव जब बीच में गई तो परासर मुनि ने उसके सौंदर्य और उसकी बदन की खुसबू से मोहित होकर उससे संभोग करने की याचना करने लगे। तभी अचानक से सत्यवती को झटका लगा कि परासर मुनि क्या कह रहे है। लेकिन परासर मुनि ने उससे निरंतर प्रार्थना और याचना करते रहे। 
महर्षि वेद व्यास की पूरी जन्म कहानी, महाभारत के रचयिता वेद व्यास की पूरी कहानी। maharshi ved vyas ki puri janm kahani, mahabharat ke rachayita ved vyas ki puri kahani
महर्षि वेद व्यास की पूरी जन्म कहानी, महाभारत के रचयिता वेद व्यास की पूरी कहानी। 

भाग 3 - सत्यवती द्वारा परासर मुनि से कुछ शर्तें मनवाना



तब जाके सत्यवती ने कहा मेरी कुछ शर्तें है जो आपको पूरी करनी होगी। पहला शर्त ये है कि आपके और मेरे बीच के काम को कोई भी जीव नही देख पाए, इस पर परासर मुनि ने अपने योग तंत्र से एक सुरक्षा और नही किसी को दिखने वाला जादू किया। उसके बाद सत्यवती कहती है मेरे बदन को ऐसे खुसबू से भर दीजिये जो हमेशा सुंदर और आकर्षक खुसबू हो, इस पर परासर मुनि ने तथास्तु कहकर ये भी पूरा कर दिया। उसके बाद सत्यवती कहती है मेरे गर्भ से आपका जन्मा पुत्र सबसे ज्यादा बुद्धिमान और सर्वज्ञानी हो, इस पर भी परासर मुनि ने तथास्तु कहकर अपने तीनो वादे पूरे कर दिए। और सत्यवती से साथ संभोग ( भोग-विलाश)  किये और वहां से चल दिये।
महर्षि वेद व्यास की पूरी जन्म कहानी, महाभारत के रचयिता वेद व्यास की पूरी कहानी। maharshi ved vyas ki puri janm kahani, mahabharat ke rachayita ved vyas ki puri kahani
महर्षि वेद व्यास की पूरी जन्म कहानी, महाभारत के रचयिता वेद व्यास की पूरी कहानी। 

भाग 4 - महर्षि वेद व्यास का जन्म की स्तिथि



और परासर मुनि और सत्यवती से जन्मे पुत्र ही महर्षि वेद व्यास है जो महाभारत के रचयिता है जिन्होंने भगवान श्री गणेश जी के साथ मिलकर पूरे महाभारत की रचना किये और अपने शिष्यों और पुत्रो द्वारा इसे कंठस्थ करवाकर पूरी दुनिया में इस कथा को फैलाया। 

महर्षि वेद व्यास की पूरी जन्म कहानी, महाभारत के रचयिता वेद व्यास की पूरी कहानी। maharshi ved vyas ki puri janm kahani, mahabharat ke rachayita ved vyas ki puri kahani
महर्षि वेद व्यास की पूरी जन्म कहानी, महाभारत के रचयिता वेद व्यास की पूरी कहानी।

भाग 5 - महर्षि वेद व्यास द्वारा महाभारत का प्रचार प्रसार।



और महर्षि वेद व्यास जी ने जन्म लेते ही वैराग्य धारण कर लिए और जंगल की ओर चल दिये। देवी सत्यवती ने  महर्षि वेद व्यास जी से एक वादा किया कि जब में बुलाऊंगी तब तुम्हे मेरे पास आना होगा।

Previous Post
Next Post

My self dhiraj kumar I self run this website I,m owner and worker of this websites . Please keep us support

Related Posts