कौरवो का विनाश किसके कारण हुआ?

कौरवो का विनाश किसके कारण हुआ? Kauravon ka vinash kiske karan hua?

कौरवो का विनाश किसके कारण हुआ? Kauravon ka vinash kaise karan hua?
कौरवो का विनाश किसके कारण हुआ? Kauravon ka vinash kiske karan hua?

भगवान श्री कृष्ण फिर उपालव्य में आकर पांडव से मिले। पांडव द्वारा ज्ञात होने पर कि दुर्योधन पांडवों को एक गांव भी देना स्वीकार नहीं करता है। तो श्री कृष्ण जी स्वम एक बार हस्तिनापुर धृतराष्ट्र की राज सभा में पधारें। सभी ने उनका उचित आदर सत्कार किया। श्री कृष्ण ने अपने आने का कारण धृतराष्ट्र को कह सुनाएं। धृतराष्ट्र बोले - हैं केशव मैं क्या करूं, लाचार हूं। दुष्ट दुर्योधन मेरा कहा नही मानता है। आप ही उसे समझाइए।
कौरवो का विनाश किसके कारण हुआ? Kauravon ka vinash kaise karan hua?
कौरवो का विनाश किसके कारण हुआ? Kauravon ka vinash kiske karan hua?

दुर्योधन ने कहा आप व्यर्थ ही पांडवों का पक्ष लेकर मेरी निंदा करते हैं। पांडवों को युद्ध किए बिना सुई की नोके बराबर भी भूमि नहीं दूंगा। यह सुनकर श्री कृष्ण जी ने क्रोध से आंख लाल करके कहा - दुर्योधन घबराओ नहीं। शीघ्र ही युद्ध होगा और कौरव का विनाश तेरे कारण ही होगा। दुर्योधन ने क्रोध में सैनिकों से कहा -  कैद कर लो इन्हें।
कौरवो का विनाश किसके कारण हुआ? Kauravon ka vinash kaise karan hua?
कौरवो का विनाश किसके कारण हुआ? Kauravon ka vinash kiske karan hua?

श्री कृष्ण ने कहा तुम मुझे अकेला मत समझो दुर्योधन। मैं चाहु तो अभी विनाश कर सकता हूं। विश्वास नहीं है तो देखो। इतना कह कर श्री कृष्ण अपना विश्वरुप धारण किया। 
कौरवो का विनाश किसके कारण हुआ? Kauravon ka vinash kaise karan hua?
कौरवो का विनाश किसके कारण हुआ? Kauravon ka vinash kiske karan hua?

धृतराष्ट्र ने भी दिव्य आंखों द्वारा उनका दर्शन किया। पूर्ण सभा आश्चर्यचकित रह गई। सभी ने उन्हें प्रणाम किया। फिर अपने पूर्व स्वरुप में आ दुर्योधन से बोले - मैं आया तो था शांति के लिए लेकिन जा रहा हूं युद्ध का निमंत्रण दे कर। इतना कह वे महल के अंदर अपनी बुआ कुंती से भेंट किये और सारा हाल कह सुनाया। तत्पश्चात उपालव्य पहुँच युधिष्टिर को सभी समाचार से अवगत कराएं।
कौरवो का विनाश किसके कारण हुआ? Kauravon ka vinash kaise karan hua?
कौरवो का विनाश किसके कारण हुआ? Kauravon ka vinash kiske karan hua?

Previous Post
Next Post

My self dhiraj kumar I self run this website I,m owner and worker of this websites . Please keep us support

Related Posts