महाभारत का भीषण युद्ध पांडवो और कौरवो के बीच क्यों हुआ?

महाभारत का भीषण युद्ध पांडवो और कौरवो के बीच क्यों हुआ? Mahabharat ka bhisn yudh pandavo aur kauravon ke bich kyon hua?

महाभारत का भीषण युद्ध पांडवो और कौरवो के बीच क्यों हुआ? Mahabharat ka bhisn yudh pandavo aur kauravon ke bich kyon hua?
महाभारत का भीषण युद्ध पांडवो और कौरवो के बीच क्यों हुआ?

पांडव और कुंति द्वारा तेरहवाँ अज्ञातवास मत्स्य राज्य में बिताया गया। वहां के राजा महराज विराट थे। महराज विराट को जब पता लगा कि ये पांचो भी पाण्डव है और इन्द्रप्रस्थ के महारथी है तो । दोनों पक्ष के सहमति से अभिमन्यु का विवाह का प्रस्ताव रखा गया। और राजकुमारी उत्तरा और अभिमन्यु का विवाह हुआ। 
महाभारत का भीषण युद्ध पांडवो और कौरवो के बीच क्यों हुआ? Mahabharat ka bhisn yudh pandavo aur kauravon ke bich kyon hua?
महाभारत का भीषण युद्ध पांडवो और कौरवो के बीच क्यों हुआ?

अभिमन्यु का विवाह होने के बाद उपालव्य में पांडवों ने एक सभा का आयोजन किया। सभा में युधिष्ठिर ने श्री कृष्ण जी से कहा -  हम लोग अज्ञातवास सहित तेरह वर्ष बिता चुके हैं। अब शर्तानुसार मेरा राज्य दुर्योधन को लौटा देना चाहिए। भीम ने कहा - दुर्योधन को मैं अच्छी तरह जानता हूं।  वह खुशी से कहीं भी राज्य वापस नहीं करेगा। उसके साथ युद्ध करना ही पड़ेगा। 
महाभारत का भीषण युद्ध पांडवो और कौरवो के बीच क्यों हुआ? Mahabharat ka bhisn yudh pandavo aur kauravon ke bich kyon hua?
महाभारत का भीषण युद्ध पांडवो और कौरवो के बीच क्यों हुआ?

फिर आपस में सब ने विचार किया कि पहले शांतिदूत भेजकर दुर्योधन से उसकी इक्षा जान लेनी चाहिए। नहीं मानने पर युद्ध होना संभव है। भगवान श्री कृष्ण जी और बलराम जी ने भी यही कहा। तब एक  पुरोहित को शांति वार्ता के लिए हस्तिनापुर भेज दिया गया। बलराम तथा श्री कृष्ण जी भी अपने संबंधी सहित द्वारिका वापस आ गए। इधर युधिष्ठिर जी सैन्य बल भी पूरी करने में लग गए।
महाभारत का भीषण युद्ध पांडवो और कौरवो के बीच क्यों हुआ? Mahabharat ka bhisn yudh pandavo aur kauravon ke bich kyon hua?
महाभारत का भीषण युद्ध पांडवो और कौरवो के बीच क्यों हुआ?

Previous Post
Next Post

My self dhiraj kumar I self run this website I,m owner and worker of this websites . Please keep us support

Related Posts