जरासंध का जन्म कैसे हुआ? जरासन्ध की उत्पत्ति कैसे हुई? Jarasandh ka janm kaise hua? Jarasandh ki utpati kaise huye?

जरासंध का जन्म कैसे हुआ? जरासन्ध की उत्पत्ति कैसे हुई? Jarasandh ka janm kaise hua? Jarasandh ki utpati kaise huye?

जरासंध का जन्म कैसे हुआ? जरासन्ध की उत्पत्ति कैसे हुई? Jarasandh ka janm kaise hua? Jarasandh ki utpati kaise huye?
जरासंध का जन्म कैसे हुआ? जरासन्ध की उत्पत्ति कैसे हुई? Jarasandh ka janm kaise hua? Jarasandh ki utpati kaise huye?

जरासंध के पिता वृहदर्थ ने काशी नरेक की दो जुड़वा बहनों से विवाह किया था। लेकिन संतान किसी से न हुई। तब राजा ने तपस्या की। एक बार गौतम ऋषि के पुत्र चंदकौशिक ऋषि ने उनके नगर में आकर एक आम  वृक्ष के नीचे ठहरे। राजा ने ऋषि के आगमन को सुन उनके पास पहुंच उनकी सेवा सत्कार किया। ऋषि ने अपने मन में जान लिया कि इसे पुत्र का आवश्यकता है। तब उन्होंने ध्यान लगाकर नेत्र बंद किए, उसी समय राजा की गोद में वृक्ष से एक आम गिर पड़ा।

जरासंध का जन्म कैसे हुआ? जरासन्ध की उत्पत्ति कैसे हुई? Jarasandh ka janm kaise hua? Jarasandh ki utpati kaise huye?
जरासंध का जन्म कैसे हुआ? जरासन्ध की उत्पत्ति कैसे हुई? Jarasandh ka janm kaise hua? Jarasandh ki utpati kaise huye?

ऋषि ने राजा से कहा इस फल को तुम अपनी पत्नी को खिला देना। अवश्य पुत्र होगा। राजा ने एक पत्नी को पूरा फल न खिला आधा-आधा दोनों पत्नी को फल खिला दिया। समय पर दोनों को प्रसव हुआ। लेकिन दोनों रानियों से  मनुष्य का आधा आधा भाग ही उत्पन्न हुआ। दोनों रानियों ने राजा के भय से उस मांस पिंड को एक कपड़े में लपेट गुप्त रूप से बाहर फिकवा दिया। दोनो टुकड़ो में जीव था।

जरासंध का जन्म कैसे हुआ? जरासन्ध की उत्पत्ति कैसे हुई? Jarasandh ka janm kaise hua? Jarasandh ki utpati kaise huye?
जरासंध का जन्म कैसे हुआ? जरासन्ध की उत्पत्ति कैसे हुई? Jarasandh ka janm kaise hua? Jarasandh ki utpati kaise huye?

जरा नाम की एक राक्षस मांस के खोज में उधर आई। उसने उस मांस के टुकड़े को एक साथ मिलाया।  टुकड़ा मिलाते ही वह पूर्ण बालक बन गया और खेलने लगा। उसने उस बालक का भोजन न कर राजा को सौप दिया।  तथा उसका नाम जरासंध पड़ा। वही जरासंध एक छत्र राज्य करना चाहता है।
Previous Post
Next Post

My self dhiraj kumar I self run this website I,m owner and worker of this websites . Please keep us support

Related Posts