अमीन के कार्य क्या-क्या होते है? और वे अपने कार्य को कैसे करते है? / How to works land surveyor

अमीन के कार्य क्या-क्या होते है? और वे अपने कार्य को कैसे करते है? / How to works land surveyor


अमीन के कार्य क्या-क्या होते है? और वे अपने कार्य को कैसे करते है?
अमीन के कार्य क्या-क्या होते है? और वे अपने कार्य को कैसे करते है? / How to works land surveyor
अमीन के कार्य क्या-क्या होते है? और वे अपने कार्य को कैसे करते है? / How to works land surveyor

अमीन का कार्य करने वाले एक साधारण व्यक्ति होते है। अमीन का शाब्दिक अर्थ है ईमानदार होना। अमीन का कार्य करने वाले व्यक्ति का हुलिया एक सामान्य व्यक्ति की तरह ही होता है लेकिन वो थोड़ा सबसे अलग होते है। वो वरिष्ठ व्यक्ति के श्रेणी में आते है। और वे जमीन से जुड़े पुराने-पुराने और असुलझे विवादों के बारे में अच्छी तरह जानते है। आमीन का कार्य करने वाले व्यक्ति बहुत ही समझदारी से बात करते है। अमीन का प्रकृति ऐसा होता है कि वो किसी भी व्यक्ति को बहुत आसानी से समझा देते है।

अमीन का कार्य बहुत ही सामान्य होता है लेकिन वो काम सभी व्यक्ति नही कर सकते। अमीन का कार्य करने वाले व्यक्ति गांव में और गांव से बाहर भी काम करते है। और कभी-कभी दूर दराज के कामो पर भी जाते है और मांग के अनुसार उन्हें अन्य जगह पर पार्टी का काम करने जाना पड़ता है। और तो और अमीन अपने रिश्तेदारों और अन्य लोगो के रिश्तेदार के यहां भी काम करने जाते है।

अमीन के पास लोग जमीन से जुड़े सभी कार्य के लिए संपर्क करते है। अमीन लोगो के लिए सेवा प्रदान करते है। अमीन का पहला और ज्यादातर काम जमीन के बिक्री के समय होता है। अमीन लोगो के खरीद-विक्री के समस्याओं को दूर करता है। अमीन लोगो के जमीन के बंटवारा का काम करता है। अमीन लोगो के जमीन को संतुष्ट करने का काम करते है जैसे कि जमीन का ज्यादा या कम होने पर जमीन का सुधार करते है। अमीन लोगो के घर के बटवारें का काम करते है। अमीन लोगो के जमीन की माप बताते है और जमीन की कीमत भी बताते है। और तो और अमीन लोगो के निजी जीवन के घरेलू समस्याओं का भी समाधान करते है।

अमीन के कार्य करने का सीधा तरीका है। अमीन के पास लोग जमीन से जुड़ी समस्याएं लेकर जाते है। और अमीन सबसे पहले जमीन की समस्याएं और किस्सा सुनते है। यहां पर अमीन जमीन को बिना कागज को देखे भी नाप सकता है पार्टी के कहे अनुसार लेकिन जमीन सही में सही जगह पर है या नही और जमीन कितना होना चहिये ये तो जमीन के कागज देखने के बाद ही तय होगा। इसलिए कोई भी अमीन जमीन नापने से पहले जमीन का कागज देखता है और जमीन का नक्शा। अमीन सबसे पहले घर पर ही जमीन की माप नक्से पर कर लेता है उसके बाद ही अमीन प्लॉट पर जाता है और नक्शा के कहे अनुसार जमीन को मापता है। और जमीन को संतुष्ट करता है। और पार्टी को सारी बातें समझता है। तब जाकर अमीन का कार्य पूरा होता है।

अमीन के जमीन माप हमेशा अलग अलग होता है थोड़ा-बहुत के अंतर हमेशा होता है। और सभी अमीन के माप में थोड़ा बहुत का अंतर हमेशा रहता ही है। इस तरह से अमीन का कार्य पूरा होता है।

Previous Post
Next Post

My self dhiraj kumar I self run this website I,m owner and worker of this websites . Please keep us support

Related Posts